Search Suggest

Gemini क्या है? और कैसे काम करता है और जानें Google का यह इंसानों की तरह सोचने वाला टूल ChatGpt को टक्कर दे सकता है या नहीं

Google Gemini Kya Hai?

गूगल जेमिनी एआई टूल एक्सप्लेनर: इस लेख में हम जेमिनी के बारे में सब कुछ जानेंगे जो आपको जानना चाहिए। गूगल ने 6 दिसंबर 2023 को गूगल जेमिनी को लॉन्च कर दिया और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की दुनिया में नई बहस शुरू कर दी।

  • गूगल जेमिनी क्या है? 
  • क्या यह इंसानों की तरह सोचता है? 
  • क्या यह चैटजीपीटी से बेहतर है? 
  • गूगल सर्च पर इसका क्या प्रभाव पड़ सकता है? 
  • और भी बहुत सारे सवाल जिनको आप तलाश रहें है उनके जवाब आपको इस लेख में मिल जायेंगे तो इसे पूरा पढ़ें। 
Google Gemini AI
Google Gemini 

Google Gemini क्या है? 

गूगल जेमिनी एक एआई मॉडल है जिसे मानव जैसा व्यवहार करने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। 

यह जेमिनी का पहला वर्जन है इसलिए इसका टेक्निकल नाम GEMINI 1.0 है। 

कहा जा रहा है की यह टूल व्हाट्सएप मैसेज का रिप्लाई भी खुद ही कर देगा और कोडिंग में तो यह एक्सपर्ट है। 

गूगल का यह नया AI मॉडल टेक्स्ट, ऑडियो, इमेज और वीडियो सहित प्रोग्रामिंग के साथ कई अन्य जानकारियों को आसानी से समझ और कर सकता है।

गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने इसे लॉन्च करते हुए ट्विटर यानी एक्स पर पोस्ट में लिखा 

"पेश है जेमिनी 1.0, हमारा अब तक का सबसे सक्षम और सामान्य एआई मॉडल। मूल रूप से मल्टीमॉडल के रूप में निर्मित, यह हमारे जेमिनी-युग के मॉडलों में पहला कदम है। जेमिनी को तीन आकारों में अनुकूलित किया गया है - अल्ट्रा, प्रो और नैनो

व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले 32 अकादमिक बेंचमार्क में से 30 पर जेमिनी अल्ट्रा का प्रदर्शन वर्तमान अत्याधुनिक परिणामों से बेहतर है। 90.0% स्कोर के साथ, जेमिनी अल्ट्रा एमएमएलयू पर मानव विशेषज्ञों से बेहतर प्रदर्शन करने वाला पहला मॉडल है।"

Google ने लॉन्च किए है Gemini के तीन मॉडल

इसके तीन मॉडल फिलहाल लॉन्च किए गए है Gemini Nano, Gemini Pro और Gemini Ultra वर्जन में आपको यह देखने को मिलेगा। 

  1. Gemini Nano: गूगल ने इसे अपने एंड्रॉयड डिवाइस के लिए बनाया है इसे ऑफलाइन भी इस्तेमाल किया जा सकता है। 
  2. Gemini Pro: यह वर्जन नैनो से बड़ा और अल्ट्रा से छोटा है जिसे छोटे डाटा सेंटर पर स्तेमाल किया जा सकता है। 
  3. Gemini Ultra: जेमिनी अल्ट्रा सबसे पॉवरफुल है जिसे हैवी टास्क के लिए इस्तेमाल किया जाएगा इसका उपयोग गूगल डाटा सेंटर के समान जगहों पर करेगा। 

कैसे ChatGpt से बेहतर है Google Gemini 

  • जेमिनी मैसिव मल्टीटास्क लैंग्वेज अंडरस्टैंडिंग मॉडल (MMLU) पर आधारित है। 
  • जेमिनी के अल्ट्रा मॉडल ने तस्वीरों को समझने, कोडिंग सहित 32 बेंचमार्क के टेस्ट में 30 को पास किया जो ChatGPT 4 से बेहतर था। 
  • Gemini Pro वर्जन ने 8 में से 6 बेंचमार्क टेस्ट में ChatGPT के फ्री वर्जन से बेहतर किया। 
  • जेमिनी का जो चैटबॉट है वह इमेज भी बना सकता है वहीं ChatGPT 4 के साथ आप इमेज नही बना सकते क्योंकि वह सिर्फ टेक्स्ट पर काम करता है। 
  • जेमिनी मल्टीटास्क कर सकता है यह एक ही समय में टेक्स्ट, इमेज और प्रोग्रामिंग कर सकता है जबकि चैट जीपीटी यह नही कर सकता। 

क्या गूगल जेमिनी इंसानों की तरह सोचता है? और आने वाले समय में इससे सर्च पर क्या प्रभाव पड़ सकते है? 

जैसा की गूगल बता रहा है यह मल्टीटास्किंग कर सकता है इंसान भी मल्टीटास्किंग कर सकते है लेकिन यह मॉडल सक्षम रहा तो ये इंसानों से बेहतर काम कर सकेगा और कोडिंग वालो की जॉब जाना संभव है। 

इसके साथ ही फोटो एडिटिंग और वीडियो एडिटिंग भी यह कर पाएगा तो हां यह इंसानों की तरह नहीं सोच पाएगा क्योंकि मानव दिमाग सबसे जटिल है जिसने ही इसे बनाया है। 

लेकिन आने वाले समय में सर्च पर इसका प्रभाव जरूर पड़ेगा जिस लोगो को जानकारी सीधे चाहिए वे इसपर सर्च करेंगे और जानकारी पा लेंगे। 

तो अगर आप एक वेबसाइट के मालिक है तो आने वाले समय में सर्च से आपका ट्रैफिक जरूर कम हो जाएगा। 

बाकी आपके सवाल आप कॉमेंट कर सकते है। 

यह भी पढ़े 

मैं अलवर का रहने वाला हू, और मैं आर्ट से स्नातक कर चुका हूं। jokeswithnishu@gmail.com

एक टिप्पणी भेजें